अगस्त तक हर कंपनी के EPF वाले कर्मी की बढ़कर आएगी सैलरी, जानें- वित्त मंत्री के ऐलान के फायदे।

सरकार ने मार्च में 15 हजार से कम वेतन वाले कर्मचारियों के एम्प्लॉयी और एम्पलॉयर, दोनों के हिस्से का 12-12% फीसदी रकम PF खाते में जमा कराने का ऐलान किया था. कोरोना संकट की वजह से सरकार मार्च से रकम डाल रही है और अब अगस्त तक डालने का ऐलान किया है. यानी कर्मचारियों के PF खाते में 6 महीने तक सरकार पैसा डालेगी.इस बीच जिनकी सैलरी 15 हजार रुपये से ज्यादा है, उन्हें  वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बुधवार को एक बड़ी राहत दी है, जिससे अब उनकी इन हैंड सैलरी बढ़ जाएगी. ऐसे कर्मचारियों की तीन महीने तक बढ़कर सैलरी आएगी.बदलाव करके सरकार ने कर्मचारी भविष्य निधि योगदान 12% से कम करके 10% कर दिया गया है. इससे पहले सभी कर्मचारी के (बेसिक+डीए) से 12 हिस्सा PF रकम के तौर पर काटी जाती थी, और अलग 12 फीसदी रकम एम्पलॉयर की ओर डिपॉजिट की जाती थी.लेकिन अब अगले तीन महीने तक 12 फीसदी की जगह 10 फीसदी रकम एम्प्लॉयी और एम्पलॉयर की ओर से PF में डाले जाएंगे. यानी 2-2 फीसदी PF की राशि कम कटेगी, इससे हर कर्मचारी को करीब 4 फीसदी पीएफ वाली रकम सैलरी में जुड़कर आएगी. सरकार के मुताबिक अगस्त तक ‘इन हैंड’ सैलरी बढ़कर मिलेगी. हालांकि केंद्रीय कर्मचारियों को ये लाभ नहीं मिलेगा. उनका कंट्रीब्यूशन 12 फीसदी ही रहेगा .

एक नुकसान भी… इससे हालांकि इससे कर्मचारियों को एक नुकसान भी होगा, पीएफ पर 80C के तहत आयकर छूट मिलती है. जितना पैसा तनख्वाह में ज्यादा मिलेगा उतना उसपर टैक्स भी देना होगा। क्योंकि केवल पीएफ पर टैक्स छूट मिलती है.